Hindi News

India rejects allegations by Canada | ट्रूडो के बयान को भारत ने कड़ाई से किया खारिज

Hardeep Nijjar, Hardeep Nijjar canada, justin trudeau- India TV Hindi

Image Source : AP FILE
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो।

नई दिल्ली: खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या पर कनाडा सरकार के आरोपों पर भारत ने करारा पलटवार किया है। विदेश मंत्रालय ने कनाडा सरकार के आरोपों को बेबुनियाद और आधारहीन करार देते हुए कहा है कि हम कानून पर विश्वास करते हैं। भारत ने साथ ही कनाडा से आतंकी तत्वों पर कार्रवाई करने की मांग की है। भारत ने कहा है कि इस तरह के बयान खालिस्तानियों से ध्यान हटाने के लिए दिए गए हैं।

‘भारत की संलिप्तता के आरोप बेतुके’


विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा, ‘हमने कनाडा के प्रधानमंत्री का उनकी संसद में दिया गया बयान और उनके विदेश मंत्री का बयान देखा है और उसे खारिज करते हैं। कनाडा में हिंसा के किसी भी कृत्य में भारत सरकार की संलिप्तता के आरोप बेतुके और मोटिवेटेड हैं। इसी तरह के आरोप कनाडा के प्रधानमंत्री ने हमारे प्रधानमंत्री के सामने लगाए थे, और उन्हें पूरी तरह से खारिज कर दिया गया था। हम कानून के शासन के प्रति मजबूत प्रतिबद्धता वाली लोकतांत्रिक सरकार हैं।’

‘कनाडाई सरकार की निष्क्रियता चिंता का विषय’

कनाडा की सरकार पर निशाना साधते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘इस तरह के निराधार आरोप खालिस्तानी आतंकवादियों और चरमपंथियों से ध्यान हटाने की कोशिश में दिए जाते हैं, जिन्हें कनाडा में आश्रय दिया गया है और जो भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए खतरा बने हुए हैं। इस मामले पर कनाडाई सरकार की निष्क्रियता लंबे समय से और निरंतर चिंता का विषय रही है। कनाडाई राजनीतिक हस्तियों द्वारा ऐसे तत्वों के प्रति खुले तौर पर सहानुभूति व्यक्त करना गहरी चिंता का विषय बना हुआ है।’

‘कनाडा में ऐसी गतिविधियों को जगह नई बात नहीं’

कनाडा पर करारा वार करते हुए बयान में कहा गया है, ‘कनाडा में हत्या, मानव तस्करी और संगठित अपराध सहित कई अवैध गतिविधियों को दी गई जगह कोई नई बात नहीं है। हम भारत सरकार को ऐसे घटनाक्रम से जोड़ने के किसी भी प्रयास को अस्वीकार करते हैं। हम कनाडा सरकार से अपनी धरती से सक्रिय सभी भारत विरोधी तत्वों के खिलाफ त्वरित और प्रभावी कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह करते हैं।’

कनाडा के पीएम ने संसद में दिया बयान

बता दें कि खालिस्तानी आतंकियों के मामले में G-20 समिट में फटकार खाने के बाद कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने हताशा भरा बयान दिया था। कनाडा के प्रधानमंत्री ने ओटावा में हाउस ऑफ कॉमंस में कहा था कि कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां भारत सरकार और खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बीच कनेक्शन की जांच कर रही हैं। उन्होंने कहा था कि कनाडा के नागरिक की उसी की सरजमीं पर हत्या में किसी दूसरे देश या विदेशी सरकार की संलिप्तता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कनाडाई प्रधानमंत्री के बयान के साथ ही दोनों देशों के बीच तल्खी फिर से बढ़ने लगी है।

गुरुद्वारे के बाहर हुई थी निज्जर की हत्या

18 जून को खालिस्तानी आतंकी निज्जर की उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जब वो कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में एक गुरुद्वारे की पार्किंग में खड़ा था। निज्जर पंजाब के जालंधर का रहने वाला था और उस पर सूबे में आतंकवाद फैलाने का आरोप था। 2020 में भारत ने उसे आतंकी घोषित किया था तो 2022 में NIA ने उसके ऊपर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। निज्जर ने न सिर्फ पंजाब में आतंकवाद फैलाया, बल्कि उसने लॉरेंस बिश्नोई गैंग की मदद भी की। आतंकियों की मदद के साथ-साथ उसका काम लॉजिस्टिक और पैसा मुहैया कराने का भी था। 

Latest India News


#India #rejects #allegations #Canada #टरड #क #बयन #क #भरत #न #कडई #स #कय #खरज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *